सोनल,काव्य पर प्रकाशित की गई कविताये पूणर्ता कॉपीराइट का अधिकार साईट ओनर व् राइटर के पास सुरक्षित

XNXX VIDEO ↓

Friday, 13 February 2015


एक हसीन लडकी राजा के
दरबार में डांस कर
रही थी..
.
(राजा बहुत बदसुरत था)
.
लडकी ने राजा से एक
एक सवाल की इजाजत
मांगी...
.
राजा ने कहा, 'चलो पुछो.'
.
लडकी ने कहा,'जब
हुसन बंट रहा था
तब आप कहां
थे..??
.
राजा ने गुस्सा नही
किया बल्कि
मुस्कुराते हुवे कहा
'जब तुम हुस्न की लाइन्
में खडी हुस्न ले
रही थी,
.
तो में किस्मत की
लाइन में खडा किस्मत ले
रहा था....
.
और आज तुझ जेसी
हुस्न वालीयां मेरी
गुलाम की तरह
नाच रही है..
.
इसलीय शायर
खुब कहते है,
.
"हुस्न ना मांग
नसीब मांग ए दोस्त,
हुस्न वाले तो
अक्सर
नसीब वालों के गुलाम
हुआ करते है..


No comments:

Post a Comment