सोनल,काव्य पर प्रकाशित की गई कविताये पूणर्ता कॉपीराइट का अधिकार साईट ओनर व् राइटर के पास सुरक्षित

XNXX VIDEO ↓

Sunday, 1 March 2015

पप्पू और उसके दोस्त
पिकनिक मनाने गये..
बाद में याद
आया कि वो पेप्सी
घर पे ही भूल आए..
उन्होनें एक पप्पू
को बोला की वो घ
र जाकर पेप्सी ले
आए..
पप्पू- मैं एक शर्त पे
पेप्सी लाऊंगा, जब
तक मैं वापस ना आऊँ
कोई
भी समोसा नहीं खा
एगा..
सबने कहा ठीक है..
2 घंटे गुजर गये…
.
.
.
4 घंटे गुजर गये..
.
.
2 दिन गुजर गये..
.
.
4 दिन गुजर गये..
.
.
सबने सोचा की अब
समोसा खा लेना चा
हिए..
जैसे ही समोसा हाथ
में उठाया..
पप्पू पेड़ के पीछे से
निकल कल बोला-
“यार, ऐसे करोगे
तो मैं नहीं जाऊँगा”


No comments:

Post a Comment