सोनल,काव्य पर प्रकाशित की गई कविताये पूणर्ता कॉपीराइट का अधिकार साईट ओनर व् राइटर के पास सुरक्षित

XNXX VIDEO ↓

Sunday, 7 June 2015

प्यार वो हैं.. जब माँ रात को आती है और
कहती हैं.. "सो जा, बाकी सुबह उठ कर पढ़
लेना" प्यार वो हैं ... जब हम tution से वापस
आये और पापा कहे- "बेटा लेट होने वाले थे तो
कॉल कर देते" प्यार वो है.... जब भाभी
कहती हैं - "ओये हीरो; लड़की पटी की नही"
प्यार वो हैं.... जब बहन कहती हैं- "देखूंगी मेरी
शादी के बाद तेरा काम कौन करेगा
"प्यार वो हैं.... जब हम निराश हो और भाई
आकर कहे- "चल नौटंकी कही घुमने चलते हैं" प्यार
वो है... जब दोस्त कॉल करके कहे- ओये कमीने
जिन्दा हैं या मर गया" यह है सच्चा प्यार।
इसे अपने जीवन मैं बिलकुल भी ना गवाएं..
प्यार केवल गर्ल फ्रेंड या बॉय फ्रेंड होना ही
नही हैं।


No comments:

Post a Comment